कुल पटवारी रजिस्ट्रेशन

रबी -2018-19 गिरदावरी
(कुल संपन्न रकबे का %)

रबी -2018-19 गिरदावरी
(कुल संपन्न ग्रामो का %)

New* - PM KISAN Desktop Utility Download

फसल गिरदावरी

फसल गिरदावरी प्रतिवर्ष की जाने वाली एक महत्वपूर्ण प्रक्रिया है जो कि वर्ष में दो बार रबी एवं रबी सीजन की बुवाई के पश्चात की जाती है एवं भूअभिलेखों में दर्ज की जाती है। यह जानकारी कई मामलों जैसे फसल बीमा, प्राकृतिक आपदा से हुए नुकसान की भरपायी, बैंक ऋण, योजनाओं के लाभ लेने आदि में महत्वपूर्ण होती है। प्रचलित पद्धति में कई बार जानकारी समय से अद्यतन नही होने या गलत हो जाने पर कई बार कृषक उन्हें प्राप्त होने वाले लाभों से वंचित रह जाते हैं। इसका एक और पहलू यह भी है कि यदि यह जानकारी शासन का समय से प्राप्त हो जावे तो प्रदेश स्तर पर समय रहते फसल प्रबंधंन, विपणन आदि से संबंधित तैयारियॉं करने में पर्याप्त समय मिल सकेगा जिसका लाभ न केवल शासन वरन् किसानों को भी प्राप्त होगा। इन्हीं बिंदुओं को दृष्टिगत रखते हुए फसल गिरदावरी संबंधी एप्लीकेशन का विकास मैपआईटी के सहयोग से राजस्व विभाग, मध्यप्रदेश शासन द्वारा किया गया है जिसके माध्यम से पटवारियों को उनके ग्राम के समस्त भूमिस्वामियों के सभी खसरों की जानकारी प्राप्त हो सकेगी एवं उनके द्वारा कृषक से संपर्क कर लगायी गयी फसल की जानकारी ग्राम से ही भरी जा सकेगी। जैसे ही जानकारी सर्वर पर अपलोड होगी, संबंधित कृषक को उसके मोबाइल नंबर पर उससे संबंधित खसरों में फसल गिरदावरी के अंतर्गत दर्ज की गयी जानकारी जिसमें बोवाई के अतिरिक्त, वृक्षारोपण, मकान या अन्य निर्माण आदि से संबंधित विवरण, SMS के माध्यम से भेजी जावेगी जिसमें एक पासकोड भी होगा। जब पटवारी द्वारा यह पासकोड एप्लीकेशन में डाला जावेगा तभी जानकारी को अंतिम माना जावेगा।

नया क्या है
  • एकीकृत रेवेन्‍यू एप- राजस्‍व व‍िभाग के मैदानी अमले के द्वारा संपाद‍ित होने वाले कार्यों के ल‍िए अब एक ही एप
  • ग‍िरदावरी का डाटा एनआईसी / वेबजीआईएस में इंपोर्ट करने की व्‍यवस्‍था संपन्‍न
  • पटवार‍ियों द्वारा प्राप्‍त सुझावों के आधार पर ग‍िरदावरी एप्‍लीकेशन में हुए कई बदलाव
  • आवासीय पट्टा के सर्वेक्षण एवं सत्‍यापन हेतु रेवेन्‍यू एप में ही सुव‍िधा
गिरदावरी से सम्बंधित किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए दिए गए ईमेल आईडी पर मेल करें |

  pc.gis.mapit@gmail.com